Ek Safal Zindagi

एक नए उत्साह के साथ ये पत्र आपने खोला होगा। ये जानते हुए की इसका मन ही मन इंतज़ार (बेशक़ चेतन भाव से नहीं) कुछ अरसे से हो रहा था। इसका कारण ये नहीं कि ऐसा कोई ख़याल या वाकया नहीं हुआ जो बताने योग्य नहीं था। दरअसल ऐसा बहुत कुछ था और जिसे व्यक्त ना करने…

Continue reading →